टी शर्ट प्रिंटिंग व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start T Shirt Printing Business

T Shirt Printing Business Kaise Kare: आप सभी तो जानते हि हैं कि आज के समय में किसी भी छोटे बड़े फंक्शन या शादी का इनविटेशन देने के लिए लोग इनविटेशन कार्ड प्रिंट करवाना पसंद करते हैं जिसके कारण प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में काफी बढ़ोतरी हुई है , परंतु प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस केवल इनविटेशन और शादी के कार्ड प्रिंट करने तक सीमित नहीं है बल्कि यह बिजनेस और भी ज्यादा एडवांस बन चुका है।

Table of Contents

टी शर्ट प्रिंटिंग व्यवसाय कैसे शुरू करें | टी शर्ट प्रिंटिंग बिजनेस प्लान कैसे शुरू करें हिंदी में

आज के समय में कोई भी व्यक्ति बेहतरीन डिजाइन वाली टी-शर्ट पहनना चाहता है। इस समय, कई कपड़ों की कंपनियां केवल मुद्रित स्टाइलिश टी-शर्ट बेचकर बाजार पर हावी हैं। आप अलग-अलग रंगों की टी-शर्ट और नए-नए डिजाइन बेचकर भी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। यहां इस व्यवसाय के विषय में विस्तार से बताया जा रहा है।

यह भी पढ़े: बांस की बोतल बनाने का व्यवसाय शुरू करें?

टी शर्ट प्रिंटिंग का बिजनेस कैसे शुरू करें टी शर्ट प्रिंटिंग बिजनेस कैसे शुरू करें हिंदी में

टी-शर्ट छपाई के लिए आवश्यक सामग्री (आर)टी – शर्ट प्रिंटिंग के लिए aw सामग्री)

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आवश्यक सामग्री, इसकी कीमत और खरीदने का तरीका दिखाया जा रहा है।

  1. टेफ़लोन शीट :
  1. सब्लिमेशन टेप :
  • क़ीमत: 300 रू (20 एमएम)
  • कहाँ से ख़रीदें https://www.amazon.com
  1. सब्लिमेशन प्रिंटर :
  1. स्याही :
  1. टी शर्ट :

टी शर्ट प्रिंटिंग कैसे शुरू करें (How to start T Shirt Printing Business in Hindi):

शुरूआती दौर में उद्यमी को किसी छोटी सी जगह या घर के किसी कमरे से भी शुरू कर सकता है | और प्रारम्भ में उद्यमी एक छोटी मशीन जिसकी कीमत 13000-15000 रूपये के बीच रहती है उसमे स्माल साइज़ से लेकर मीडियम साइज़ की T Shirt का प्रिंटिंग किया जा सकता है | खास बात यह है की इस मशीन की मदद से उद्यमी टी शर्ट पर प्रिंटिंग करने के साथ मग प्रिंटिंग भी कर सकता है | और बाद में जरुरत पड़ने पर टी शर्ट प्रिंटिंग की बड़ी मशीन भी खरीद सकता है |

जिसकी कीमत छोटी मशीन के मुकाबले कुछ हज़ार अधिक होती है अर्थात इस तरह की यह बड़ी मशीन उद्यमी को 25-30 हज़ार में आसानी से मिल जाएगी | तो आइये जानते हैं छोटे स्तर पर यह बिजनेस शुरू करने के लिए उद्यमी को कौन कौन से कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है |

See also  शहर जा रहे ग्रामीण युवा, गांव में रहकर शुरू करें ये 5 कारोबार, यकीन मानिए शहर जाना भूल जाएंगे आप

यह भी पढ़े: मिठाई के डिब्बे बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें ?

व्यापार की कमाई कर सकने की क्षमता का आकलन:

ध्यान रहे किसी की देखा देखी के आधार पर बिज़नेस करने का फैसला कभी नहीं लेना चाहिए कहने का आशय यह है की उद्यमी द्वारा व्यापार करने का फैसला सिर्फ इसलिए नहीं ले लेना चाहिये की अमुक व्यक्ति तो उस तरह का बिज़नेस करके अच्छी खासी कमाई कर रहा है | बल्कि बिज़नेस करने का निर्णय उस जगह या क्षेत्र विशेष में उस वस्तु विशेष या सेवा विशेष की आवश्यकता को ध्यान में रखकर शुरू किया जाना ही उचित है |

जहाँ तक टी शर्ट प्रिंटिंग की बात है यह मनुष्य की नितांत आवश्यकता से जुड़ा हुआ बिज़नेस नहीं है इसलिए हर लोकेशन पर इसमें सामान रूप से कमाने के अवसर विद्यमान होंगे यह सत्य नहीं है | यही कारण है की इस बिजनेस को स्टार्ट करने से पहले उद्यमी को उस विशेष लोकेशन जहाँ वह यह बिज़नेस शुरू करना चाहता है में इसकी कमाई करने की क्षमता का आकलन अवश्य करना चाहिए |

इस बिज़नेस में मुख्य रूप से उद्यमी के ग्राहक के तौर पर नौजवान, स्कूल, कंपनिया, कार्यालय अन्य शिक्षण संस्थान रह सकते है, Customized T Shirts का उपयोग गिफ्ट देने हेतु भी किया जाता है | कहने का आशय यह है की ऐसी लोकेशन जहाँ पर स्कूल, कंपनियां, कार्यालय एवं अन्य व्यवसायिक संस्थान अधिक हों उस लोकेशन पर यह बिजनेस शुरू करना लाभकारी हो सकता है |

T Shirt Printing Business के लिए लोकेशन का निर्णय लें:

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं चूँकि इस बिजनेस से किसी तरह के प्रदूषण होने की संभावना नहीं रहती है इसलिए प्रारम्भिक अवस्था में उद्यमी इसे अपने घर के कमरे से भी शुरू कर सकता है | चूँकि यह बिज़नेस शुरू करने के लिए उद्यमी को सबसे पहले उस क्षेत्र विशेष में इस बिज़नेस के कमाने की क्षमता का आकलन करना होता है इसलिए अब दूसरा कदम उद्यमी का यह होना चाहिए की वह अपनी बिज़नेस लोकेशन अपने घर के किसी कमरे को बनाये या फिर बाहर किसी दुकान को |

हालांकि यदि उद्यमी के पास अपने घर के अलावा बाहर भी कहीं थोड़ी बहुत जगह है जहाँ से वह अपना यह बिजनेस शुरू कर सकता है तो उद्यमी उसी जगह को अपनी बिज़नेस लोकेशन बना सकता है लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो शुरूआती दौर में घर के किसी कमरे से भी यह बिज़नेस संचालित किया जा सकता है |

यह भी पढ़े: मोती फार्मिंग बिजनेस कैसे करें?

स्थानीय नियम लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन:

यद्यपि इस बिज़नेस को शुरूआती दौर में बहुत छोटे स्तर से शुरुआत करने के लिए उद्यमी को किसी प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता नहीं है, लेकिन उद्यमी चाहे तो विभिन्न बिज़नेस Entities  में से किसी एक का चयन करके अपने बिज़नेस को रजिस्टर करा सकता है | इसके अलावा उद्यमी को स्थानीय नियमों का भी निरीक्षण अवश्य करना चाहिए की उस विशेष लोकेशन पर बिज़नेस करने के लिए नगर निगम इत्यादि प्राधिकरण के लाइसेंस या परमिशन की आवश्यकता तो नहीं है |

हाँ यदि उद्यमी चाहता है की वह अपनी सर्विस स्कूलों, कंपनियों एवं अन्य संस्थानों में मुहैया कराये तो इसके लिए उद्यमी को अपनी इकाई के नाम से कर पंजीकरण कराने की आवश्यकता हो सकती है | ऑनलाइन जीएसटी पंजीकरण कराने की स्टेप बाई स्टेप प्रक्रिया |

आवश्यक मशीनरी उपकरण एवं कच्चा माल खरीदें:

अब चूँकि उद्यमी इस बिजनेस को करने के लिए तीन जरुरी कदम उठा चूका है इसलिए अब अगला कदम उद्यमी का इस बिज़नेस में प्रयुक्त होने वाले मशीनरी, उपकरण एवं कच्चे माल को खरीदने का होना चाहिए | इस तरह की मशीनरी उपकरण एवं कच्चा माल खरीदने के लिए उद्यमी जस्ट डायल एवं इंडिया मार्ट जैसी वेबसाइट से विक्रेता ढूंढ सकता है | इस बिजनेस में प्रयुक्त होने वाली मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • एक लैपटॉप या कंप्यूटर जिसकी कीमत रूपये 15000-28000तक हो सकती है |
  • एक सब्लिमेशन प्रिंटर जिसकी कीमत रूपये 8000-12000 तक हो सकती है |
  • T Shirt Printing Machine जिसकी कीमत रूपये 13000-20000 तक हो सकती है |
  • ग्राफ़िक सॉफ्टवेर जैसे कोरेल ड्रा या फोटोशॉप जिसकी कीमत रूपये 7000-10000तक हो सकती है |
See also  सरकारी कर्मचारियों के लिए साइड बिजनेस | सरकारी कर्मचारियों के लिए साइड बिजनेस आइडिया हिंदी में

उपर्युक्त आंकड़े से स्पष्ट है की इस बिज़नेस में आने वाली मशीनरी एवं उपकरणों की कम से कम लागत रूपये 41000-70000 तक है, यदि उद्यमी के पास लैपटॉप या कंप्यूटर एवं उसमे कोई एक ग्राफ़िक सॉफ्टवेर पहले से है तो इस स्थिति में मशीनरी एवं उपकरणों पर आने वाली लागत और कम हो सकती है |

इस व्यवसाय में प्रयुक्त होने वाले कच्चे माल की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • सब्लीमेशन पेपर इसकी एक पीस की कीमत 7 रूपये होती है 100 पेपर का यह पैकेट 350 रूपये तक में मिल सकता है |
  • टेफलॉन शीट इसकी कीमत माप के आधार पर अलग अलग हो सकती है लेकिन एक 3MM Thickness और 300MM×300MM साइज़ की टेफलॉन शीट की कीमत 465 रूपये तक हो सकती है |
  • ब्लेंक टी शर्ट हालांकि इस तरह की ये टी शर्ट मार्केट में महंगी कीमतों में भी उपलब्ध हैं लेकिन टी शर्ट प्रिंटिंग बिजनेस के लिए उद्यमी को चाहिए की वह रूपये 60 से लेकर 90 रूपये तक की प्रति टी शर्ट खरीदे |

T Shirt printing Business शुरू करे:

अब चूँकि उद्यमी ने अपने T Shirt printing Business के लिए मशीनरी, उपकरण एवं कच्चे माल का प्रबंध कर लिया है इसलिए अब उद्यमी आसानी से टी शर्ट में प्रिंटिंग शुरू कर सकता है | टी शर्ट प्रिंटिंग प्रक्रिया भी मग प्रिंटिंग प्रक्रिया जितनी ही आसान है फिर भी यहाँ पर हम संक्षिप्त तौर पर इस प्रक्रिया का वर्णन कर लेते हैं |

  • टी शर्ट में प्रिंटिंग करने के लिए सबसे पहले उद्यमी को अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में ग्राफ़िक सॉफ्टवेर की मदद से वह डिजाईन तैयार करना होता है जो वह टी शर्ट पर प्रिंट करना चाहता हो |
  • डिजाईन तैयार हो जाने के बाद उस डिजाईन का सब्लिमेशन पेपर पर मिरर प्रिंट लिया जाता है |
  • जब प्रिंट निकाल लिया जाता है तो उसके बाद T Shirt Printing Machine का स्विच ऑन कर लिया जाता है और उसमे एक निश्चित तापमान जैसे 340° सेट का दिया जाता है |
  • तापमान सेट करने के बाद उस Printing Machine को सेट किये हुए तापमान तक पहुँचने में 4-6 मिनट का समय लग सकता है |
  • जब मशीन का तापमान सेट किये हुए तापमान तक पहुँच जाता है तो मशीन से एक साउंड आने लगती है इसका अभिप्राय यह है की मशीन प्रिंटिंग के लिए तैयार है |
  • अब ब्लेंक टी शर्ट को मशीन के सामने रखी टेबल पर बिछा दिया जाता है, इसमें ध्यान देने वाली बात यह है की जिस तरफ उद्यमी को प्रिंट करना है टी शर्ट का वह हिस्सा मशीन की तरफ होना चाहिए |
  • इसके बाद बिछी टी शर्ट के ऊपर प्रिंट लिया हुआ सब्लीमेशन पेपर रख दिया जाता है और उसके ऊपर मशीन को प्रेस किया जाता है, मशीन को उसी अवस्था में लगभग 25-35 सेकंड के लिए छोड़ दिया जाता है | और उसके बाद उससे मशीन को हटाकर टी शर्ट को बाहर निकालकर सब्लीमेशन पेपर के बाहर के छिलके को हटा दिया जाता है, इस प्रकार से इस व्यवसाय में टी शर्ट प्रिंटिंग की यह प्रक्रिया पूर्ण हो जाती है |
See also  पॉपकॉर्न बनाने का बिजनेस 2023 कैसे करें | Best Plan for Popcorn Making Business in Hindi

यह भी पढ़े: पनीर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

व्यापार शुरू करने के लिए कुल लागत (T – Shirt Printing Business Cost)

इस व्यापार को शुरू करने के लिए कुल लागत लगभग रू 42,000 की आती है. इन पैसों में टी शर्ट प्रिंटिंग मशीन, टेफ़लोन शीट, सब्लिमेशन टेप, सब्लिमेशन पेपर प्रिंट, प्रिंटर, इंक, टी शर्ट सब आ जाएगा.

टी शर्ट प्रिंटिंग व्यापार में लाभ (T – Shirt Printing Business Profit)

इस धंधे में कुल 110 रुपये की एक टी-शर्ट को 90 रुपये की टी-शर्ट पर छापकर खर्च किया जाता है। टी-शर्ट जो बाजार में 200 से 220 रुपये में बिकती है।

प्रिंटेड टी शर्ट की पैकेजिंग (T – Shirt Packaging)

टी-शर्ट तैयार होने के बाद आपको उसकी पैकेजिंग पर ध्यान देना होगा। इसके लिए आप अपने खुद के पैकेट तैयार कर सकते हैं। इस पैकेट पर आप टी-शर्ट का साइज, उसका कलर प्रिंट कर सकते हैं और आप चाहें तो इंटीरियर डिजाइन भी प्रिंट कर सकते हैं। इसके अलावा डिजाइन को आकर्षक बनाने के लिए बॉलीवुड के बड़े सुपरस्टार्स की तस्वीरों का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

टी शर्ट प्रिंटिंग व्यापार के लिए मार्केटिंग (T – Shirt Printing Business Marketing Plan)

यह व्यवसाय पूरी तरह से डिजाइन पर निर्भर है। इसलिए आप बाजार में जितने नए और आकर्षक डिजाइन लाएंगे, आपका ब्रांड उतना ही ज्यादा बिकेगा। इसके लिए आप विशेष रूप से एक डिज़ाइनर को हायर कर सकते हैं, जो आपको नए डिज़ाइन बनाएगा या आप रेडीमेड डिज़ाइन भी खरीद सकते हैं। एक बार जब आप डिज़ाइन के बारे में जान जाते हैं, तो आप एडोब फोटोशॉप या इसी तरह के अन्य प्रोग्राम की मदद से आसानी से एक डिज़ाइन बना सकते हैं। इसके बाद आप अपना खुद का स्टोर खोल सकते हैं और अपनी डिजाइन की हुई टी-शर्ट बेच सकते हैं। इसके अलावा आप अपनी टी-शर्ट को शहर की अन्य रेडीमेड दुकानों पर भी बेच सकते हैं, लेकिन अगर आप अपनी बनी टी-शर्ट को अपने स्टोर से बेचते हैं तो आपको इसमें ज्यादा मुनाफा होगा। इन सबके अलावा आप अपनी डिजाइन की हुई टी-शर्ट को ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी बेच सकते हैं। आप Flipkart, Amazon, Snap Deals, Myntra आदि से बात करके टी-शर्ट बेचकर मुनाफा कमा सकते हैं। आप चाहें तो अपने ब्रांड के नाम से अपनी वेबसाइट बनाकर टी-शर्ट भी बेच सकते हैं।

यह भी पढ़े: पीपीई किट मैन्युफैक्चरिंग व्यवसाय शुरू करें?

FAQ

टी शर्ट प्रिंटिंग का बिजनेस क्या है?

टी शर्ट प्रिंटिंग का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जिसके अंतर्गत अलग-अलग डिजाइन की टीशर्ट प्रिंट किए जाते हैं और लोगों के उपयोग के लिए मार्केट तक पहुंचाया जाते हैं।

इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए कितना लागत लगता है?

इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए कम से कम ₹100000 रुपए से लेकर के ₹150000 रुपए तथा लागत लग सकता है।

इस बिजनेस में कितना मुनाफा होता है?

इस बिजनेस के माध्यम से महीने में कम से कम ₹40000 रुपए से लेकर के ₹50000 रुपए तक का मुनाफा होने का चांस होता है।

इस बिजनेस को करने के लिए कौन-कौन से लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ती है?

इस बिजनेस को करने के लिए ब्रांड नेम रजिस्ट्रेशन और जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराने की आवश्यकता पड़ती है।

इस बिजनेस के अंतर्गत कौन-कौन से मशीन और रो मटेरियल का इस्तेमाल किया जाता है?

इस बिजनेस के अंतर्गत निम्नलिखित मशीन और रो मटेरियल का इस्तेमाल किया जाता है:-
टी-शर्ट
सब्लीमेशन पेपर
टेफलॉन शीट
सब्लीमेशन प्रिंटर
टी शर्ट प्रिंटिंग मशीन
लैपटॉप या कंप्यूटर
ग्राफिक सॉफ्टवेयर , इत्यादि।

निष्कर्ष

जिस तरह से आज के समय में प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस काफी अच्छा चल रहा है ठीक उसी तरह से टी शर्ट प्रिंटिंग का बिजनेस भी काफी अच्छा और बेहतर बिजनेस है जिसकी मांग आज के समय में काफी अच्छी है। इसीलिए इस बिजनेस की शुरुआत करना एक बेहतर फैसला साबित हो सकता है , इसकी शुरुआत करने के लिए बस सूझबूझ, समझदारी, ज्ञान, और तजुर्बे की आवश्यकता होती है।

तो आज हमने आप सबको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से टी शर्ट प्रिंटिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? ( T Shirt Printing Business Kaise Kare) से जुड़े हुए सभी तरह की जानकारियों को प्राप्त कराने की कोशिश की है। आशा करते हैं कि आपको हमारे यहां आर्टिकल अच्छा लगा होगा और आपको हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से इस बिजनेस के बारे में काफी अच्छी जानकारी प्राप्त हुई होगी जो कि आपके इस बिजनेस की शुरुआत करने में आपकी सहायता करेगा।