पनीर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? | Paneer Making Business Plan in Hindi | Investment and Profit

Table of Contents

Paneer Making Business Plan: पनीर बनाने का व्यवसाय शुरू करके कैसे कमा सकते हैं अच्छा प्रॉफिट?, जानें

पनीर का व्यवसाय करना एक लाभदायक और आकर्षक व्यवसाय है। यह दूध प्रसंस्करण गतिविधि के अंतर्गत आता है। पनीर का उपयोग एशिया के कुछ देशों जैसे भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान आदि में अधिक किया गया है। हालाँकि, पनीर का उत्पादन अब पूरी दुनिया में फैल रहा है। भारतीय बाजार में पनीर दो अलग-अलग कैटेगरी में बेचा जाता है। एक ताजा बिक्री के लिए और दूसरा पैकेज्ड रूप में। हालांकि, ताजा पनीर पैकेज्ड पनीर की तुलना में जल्दी खराब हो जाता है। तो कोई भी व्यक्ति कुछ निवेश के साथ पनीर निर्माण व्यवसाय शुरू कर सकता है। ऐसा कैसे होता है, यह जानने के लिए आप हमारा यह लेख पढ़ें।

पनीर बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें (Paneer Making Business plan start, cost, profit, in Hindi)

Paneer Ka Business Kaise Shuru Kare: पनीर का व्यवसाय लाभदायक व्यवसाय में से एक है। यह प्रोसेसिंग एक्टिविटी व्यवसाय कहलाता है। पनीर का व्यवसाय भारत में ही नहीं अपितु अन्य देशों में भी इसका उत्पादन खूब हो रहा है जैसे बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान। हालांकि इन देशों  समेत आज पूरे विश्व में भी इसका उपयोग किया जा रहा है।

बात करें अगर भारत में पनीर के बिक्री की तो भारत में दो अलग-अलग रूपों में पनीर दिखता है। एक खुला तथा ताजा पनीर होता है और दूसरा पैकेट में पैक हो कर आता है।

यह भी पढ़े: पीपीई किट मैन्युफैक्चरिंग व्यवसाय शुरू करें?

पनीर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? | Paneer Making Business Plan in Hindi | Investment and Profit

पनीर की मार्केट में क्षमता (Market Potential of Paneer Manufacturing)

पनीर दक्षिण भारत का सबसे बड़ा बाजार है। वैसे तो पनीर देश के लगभग हर राज्य में लोकप्रिय है। पनीर की डिमांड इसलिए ज्यादा है क्योंकि आज के समय में लोग चाहे वेजिटेरियन हों या नॉन वेजिटेरियन, बाहर का खाना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। और देश के अंदर अलग-अलग जगहों की यात्रा भी कर रहे हैं। इसलिए आज पनीर हर जगह उपलब्ध है। यह विभिन्न किराने की दुकानों, सुपरमार्केट, डिपार्टमेंटल स्टोर आदि में बेचा जाता है। चूंकि लोग ज्यादातर खाने के लिए बाहर जाते हैं, होटल और रेस्तरां में इसकी हमेशा मांग रहती है, और इसलिए होटल उद्योग पनीर का प्रमुख उपभोक्ता है।

See also  गैस एजेंसी खोलने का तरीका (डीलरशिप) 2023 | Gas Agency Dealership Business in Hindi

देश में कम से कम 65 फीसदी ब्रांडेड पनीर जैसे अमूल और नेस्ले की बिक्री हो रही है। लेकिन भारत में पनीर की खपत निश्चित रूप से सालाना 25 से 30% बढ़ रही है। इसलिए छोटे पैमाने पर पनीर निर्माण व्यवसाय शुरू करना नए उद्यमियों के लिए बहुत ही आकर्षक हो सकता है। यदि आप पहले से ही डेयरी व्यवसाय आप मौजूदा व्यवसाय के साथ पनीर बनाने का व्यवसाय की एक छोटी इकाई शुरू करने पर भी विचार कर सकते हैं।

पनीर की उत्पादन क्षमता (Paneer Production Capacity)

यदि आप प्रतिदिन लगभग 500 लीटर दूध का प्रसंस्करण करते हैं, तो इससे लगभग 40 किलोग्राम पनीर का उत्पादन होगा। प्रति माह 1 टन पनीर के उत्पादन से सालाना 12 मीट्रिक टन पनीर का उत्पादन किया जा सकता है।

यह भी पढ़े: Animation Studio Business कैसे शुरू करे?

पनीर के व्यापार के लिए रजिस्ट्रेशन (Paneer Making Business Registration)

बिजनेस चाहे बड़ा हो या छोटा, सभी का रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है। आपको पनीर बनाने के व्यवसाय को पंजीकृत करने के साथ-साथ व्यवसाय का नाम और बीमा कवर भी प्राप्त करना होगा। इस व्यवसाय के लिए निम्नलिखित पंजीकरण आवश्यक है –

  • इस बिजनेस को चलाने के लिए आपको सबसे पहले एक मैन्युफैक्चरिंग और बिजनेस लाइसेंस की जरूरत होगी, जिसे आपको अपनी स्थानीय नगरपालिका से प्राप्त करना होगा।
  • यह उसके बाद का खाद्य पदार्थ है इसलिए आपको करना होगा एफएसएसएआई पंजीकरण लेकिन उससे पहले, पीएफए ​​अधिनियम (2010) के अनुसार, पनीर के उत्पादन के लिए कुछ शर्तों का पालन करना आपके लिए अनिवार्य है, यानी इसमें 70% से अधिक नमी नहीं होनी चाहिए और वसा की मात्रा कम से कम नहीं होनी चाहिए। 50%। चाहिए।
  • इस टेस्ट को पास करने के बाद आपको मिल जाएगा MSME उद्योग आधार में भी पंजीकरण करना है, जो आप ऑनलाइन भी कर सकते हैं।
  • इन सबके अलावा आपको BIS सर्टिफिकेट बनवाने के लिए भी अप्लाई करना होता है।

पनीर बनाने का व्यापार के लिए स्थान की आवश्यकता (Place Requirement for Paneer Making business)

एक छोटे पैमाने पर पनीर निर्माण इकाई शुरू करने में, आपको एक जगह सुनिश्चित करनी होगी। और शुरुआत के लिए कम से कम 1000 वर्ग फुट का क्षेत्र काफी है। इसके अलावा, आपको प्रसंस्करण क्षेत्र, स्टोर रूम, पैकिंग सामग्री के लिए जगह, तैयार माल के भंडारण के साथ-साथ परिवहन के लिए जगह की भी आवश्यकता होगी। इसके अलावा आपको बिजली और पानी जैसी सुविधाएं प्रदान करना भी आवश्यक है। इसलिए पनीर का बिजनेस शुरू करने से पहले चीज मैन्युफैक्चरिंग की प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर लें, तभी आप सभी बातों को ध्यान में रखकर बिजनेस को बेहतर तरीके से स्थापित कर पाएंगे।

See also  कपड़े की सिलाई का व्यवसाय 2023 शुरू कर हजारों रूपये प्रतिमाह कमाने का मौका प्राप्त करें

यह भी पढ़े: इलेक्ट्रिक स्विच सॉकेट, प्लग बनाने का बिजनेस?

पनीर के व्यापार के लिए कच्चा माल (Raw Material for Paneer Business)

पनीर व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक प्रमुख कच्चा माल दूध और सोडियम हाइपोक्लोराइट या साइट्रिक एसिड है। जिसके माध्यम से पनीर बनाया जाता है। पनीर एक ऐसा उत्पाद है जो जल्दी खराब हो जाता है। यह केवल 3 दिन तक ही ताजा रह सकता है और वह भी हमेशा फ्रीजर में ही रखा जाता है। अगर इसे सामान्य तापमान पर रखा जाए तो यह एक दिन से ज्यादा नहीं टिकेगा।

पनीर के व्यापार के लिए मशीनरी (Machinery for Paneer Business)

आमतौर पर इस क्षेत्र में सेमी ऑटोमेटिक मैन्युफैक्चरिंग यूनिट ज्यादा सफल रही है। हालाँकि, आधुनिक और तकनीकी रूप से उन्नत मशीनरी विभिन्न लाभ प्रदान करती है जैसे कि अच्छी गुणवत्ता, पनीर की उच्च उपज, पनीर का विस्तारित जीवन और अत्यधिक पौष्टिक पनीर आदि। यहाँ हम आपको कुछ मशीनरी के बारे में बताने जा रहे हैं जो इस व्यवसाय को चलाने में आपकी मदद कर सकती हैं –

1- दूध के भंडारण के लिए एल्युमिनियम के डिब्बे (aluminum cans for milk storage)

2- मोटर कूलर (motor cooler)

3- फैट रिमूवर (Fat Remover)

4- डीप फ्रीज़र (Deep Freezer)

5- वैक्यूम पैकिंग मशीन (Vacuum Packing Machine)

6- स्टेनलेस स्टील से बना प्रेसिंग टैंक (Pressing tank made of stainless steel)

7- दूध गर्म करने के लिए बॉयलर (Boiler for heating milk)

8- दूध विश्लेषक ((Milk analyzer)

9- तोलनयंत्र (Weighing machine)

10- लेबलिंग मशीन (Labeling Machine)

इन सभी पनीर बनाने वाली मशीन को आप indiamart जैसी websites के माध्यम से आसानी से खरीद सकते हैं|

यह भी पढ़े: रबर स्टाम्प बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें ?

घर पर पनीर बनाने की प्रक्रिया (Home base without machine Paneer Making Process)

पनीर बनाना बहुत ही आसान है, इसे आप अपने घर पर भी बना सकते हैं. यहां हम आपको पनीर की आसान प्रक्रिया के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आपको पनीर का छोटा बिजनेस शुरू करने में मदद मिलेगी-

  • पनीर का उत्पादन शुरू करने के लिए सबसे पहले दूध की प्रोसेसिंग की जरूरत होती है। इसका मतलब है कि दूध को पहले दूध बॉयलर के माध्यम से गर्म किया जाता है। दूध को इसलिए गर्म किया जाता है क्योंकि यह दूध में मौजूद रोग पैदा करने वाले कीटाणुओं को नष्ट कर देता है। यह कोलाइडल कैल्शियम फॉस्फेट की घुलनशीलता को भी प्रभावी ढंग से कम करता है। दूध को लगभग 60 डिग्री सेंटीग्रेड तक गर्म किया जाता है।
  • फिर दूध से पानी और ठोस पदार्थ अलग करने के लिए नींबू के रस की कुछ बूंदें या साइट्रिक एसिड की कुछ बूंदें डाली जाती हैं।
  • इसके बाद इसे मलमल के कपड़े से छानकर इसका पानी अलग कर दिया जाता है।
  • इसके लिए आप इसे किसी भारी चीज के नीचे रख दें, जिससे इसका पानी पूरी तरह अलग हो जाए और हमें पनीर मिल जाए.
  • फिर इसे एक निश्चित वजन पर तौलकर अलग-अलग टुकड़ों में काट लें और पैक करके फ्रीजर में रख दें।
See also  मखाने की खेती कैसे करें, तरीका (Fox Nut Farming Business in Hindi)

पनीर की पैकेजिंग (Paneer Packaging)

पनीर की लाइफ बहुत छोटी होती है इसलिए इसकी पैकेजिंग पर खास ध्यान दिया जाता है। पैकेजिंग ही पनीर के जीवन को बढ़ा सकती है। आम तौर पर आप पनीर के ब्लॉकों को पॉलीथीन के पाउच में पैक कर सकते हैं। इसकी पैकिंग के लिए वैक्यूम पैकिंग मशीन का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बाद हीट सील प्रक्रिया लागू की जाती है, और इसे डीप फ्रीजर में रख दिया जाता है।

पनीर बनाने का व्यापार करने के लिए कुल लागत या कीमत (Total Cost or Investment for Paneer Business) 

यदि आपका विचार इस व्यवसाय को छोटे पैमाने पर शुरू करने का है, तो आपको कुछ कच्चे माल और अन्य चीजों जैसे दूध, परिवहन लागत, साइट्रिक एसिड, पैकेजिंग सामग्री, बिजली, ईंधन, पनीर का परिवहन, बक्से, कर्मचारी का वेतन आदि पर पैसा देना होगा। खर्च करना पड़ता है। इसके लिए आपको 2 लाख रुपये तक का निवेश करना पड़ सकता है। इसके अलावा जब आप इसे बड़े पैमाने पर शुरू कर रहे हैं, तो आपको मशीनरी की लागत के लिए 2.30 लाख रुपये और कुछ कच्चे माल के लिए लगभग 2 लाख रुपये की आवश्यकता हो सकती है। और व्यवसाय को पूरी तरह से स्थापित करने में लगभग 5-6 लाख का समय लग सकता है।

पनीर का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको इसकी कीमत तय करनी होगी। इसके लिए आप पनीर को बाजार में करीब 150 से 200 रुपये प्रति किलो की दर से बेच सकते हैं. इसके अलावा अगर आप किसी होटल या रेस्टोरेंट से ऑर्डर ले सकते हैं तो जरूर लें। इसके लिए आप पनीर की कीमत होलसेल के हिसाब से लगा सकते हैं, जो काफी फायदेमंद रहेगा.

यह भी पढ़े: रंगोली का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

पनीर व्यापार के लिए लाभ मार्जिन (Profit Margin for Paneer Business)  

चूँकि आज के समय में इसकी डिमांड बहुत ज्यादा है इसलिए इस बिजनेस में आपको काफी मुनाफा होगा। इसके बिजनेस से आप रोजाना कम से कम 2000 रुपये कमा सकते हैं। इसके अलावा अगर आप इसे किसी होटल या रेस्टोरेंट के ऑर्डर से होलसेल में बेचते हैं तो आपको इससे ज्यादा मुनाफा हो सकता है।

इस तरह आप बहुत ही कम कीमत में ज्यादा मुनाफा कमाने वाला बिजनेस शुरू करके इसे ढेर सारा पैसा कमाने का जरिया बना सकते हैं।

FAQ

पनीर का किससे बनता है?

पनीर दूध से बनता है ।

दूध को पनीर में बदलने के लिए दूध में क्या डाला जाता है?

सोडियम हाइपोक्लोराइट या साइट्रिक एसिड ।

पनीर में कौन सी विटामिन होती है?

पनीर में विटामिन D पाई जाती है, जो प्रोटीन का भी बहुत बड़ा स्रोत होती है ।

निष्कर्ष

आज पूरे भारत में पनीर हर शादी समारोह में खाने में प्रयोग किए जाने लगा है, जिससे इसकी डिमांड भी अत्यधिक बढ़ गई है। जहां पनीर 200 रुपए किलो बिकता था आज वह ₹400 किलो बिकने लगा है। यदि इतनी डिमांड में पनीर का बिजनेस किया जाए तो अधिक से अधिक लाभ कमाया जा सकता है।

इस बिजनेस में यदि थोड़ी मेहनत की जाए तो अच्छा खासा पैसा कमाया जा सकता है। यह भारत में ही नहीं अपितु अन्य देशों में भी इसकी डिमांड काफी बढ़ चुकी है। यदि आप इस बिजनेस को करते हैं तो आप अवश्य सफल हो सकते हैं। इस लेख से जुड़ा आपका कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।