बाइक एजेंसी कैसे लें 2023| Bike Agency Business in Hindi

बाइक एजेंसी कैसे लें, (कैसे खोलें, व्यवसाय, डीलरशिप, योग्यता, खर्च, लाइसेंस, लाभ), (Bike Agency Business in Hindi), (Kaise Khole, Cost, Dealership, Profit)

आज के समय में आपको लगभग हर घर में एक दोपहिया वाहन आसानी से मिल जाएगा। समय के साथ दुपहिया वाहनों के निर्माण में काफी वृद्धि हुई है और इस क्षेत्र की कई बड़ी कंपनियां भारत के हर राज्य और जिले में अपनी डीलरशिप प्रदान कर रही हैं, ताकि उनके ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं मिल सकें. आज के समय में भारत के हर राज्य और जिले में सभी टू व्हीलर एजेंसियां ​​अपनी-अपनी डीलरशिप लोगों को बांट रही हैं. आप किसी भी बाइक एजेंसी की डीलरशिप भी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं और इस क्षेत्र में अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। अगर आप भी अपनी बाइक की एजेंसी लेकर अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो हमारे इस विषय पर आधारित इस महत्वपूर्ण लेख को आखिरी तक जरूर पढ़ें।

Table of Contents

बाइक एजेंसी का क्या काम है

बाइक एजेंसी का बिजनेस बहुत मुश्किल नहीं है। अगर आपने अपने लिए कोई बाइक या स्कूटी खरीदी है तो उसे खरीदने के लिए आप एजेंसी गए होंगे, जहां आपने अलग-अलग टू व्हीलर बनाने वाली कंपनियों के वाहन देखे होंगे। जहां से हम दोपहिया वाहन खरीदते हैं, उन्हें हम दोपहिया एजेंसी के नाम से जानते हैं। ये सभी टू व्हीलर एजेंसियां ​​अलग-अलग वाहन निर्माता कंपनियों की डीलरशिप लेती हैं और फिर उसे अपनी एजेंसी के जरिए ग्राहकों को बेचती हैं।

बाइक एजेंसी व्यवसाय की मांग

आज बड़ी संख्या में दोपहिया वाहनों की बिक्री दिन पर दिन होती है और इस दृष्टि से इस व्यवसाय की मांग आज हमारे भारतीय बाजार में अधिक है. अभी भी कई जगह ऐसी हैं जहां लोगों को एक भी बाइक एजेंसी नहीं मिलती है। ऐसे लोगों को दुपहिया वाहन खरीदने या उसके पुर्जे खरीदने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। ऐसे में अगर कोई ऐसे इलाके में जहां पहले से कोई टू व्हीलर एजेंसी मौजूद नहीं है, टू व्हीलर एजेंसी लेता है तो इस लिहाज से यह बिजनेस काफी फायदेमंद है.

See also  घर बैठे सिलाई का काम चाहिए तो पढ़ें ये पोस्ट - Silai Work At Home 2023

बाइक एजेंसी लेने के लिए पात्रता या मानदंड

किसी भी टू व्हीलर निर्माता कंपनी की डीलरशिप लेने के लिए आपको किसी तरह की विशेष शैक्षणिक योग्यता या ट्रेनिंग की जरूरत नहीं है। हर ऐसा व्यक्ति बाइक एजेंसी खोल सकता है, जो इस प्रकार के व्यवसाय में निवेश कर सके।

बाइक एजेंसी खोलने का स्थान

बाइक एजेंसी खोलने के लिए आप ऐसी जगह का चुनाव कर सकते हैं, जहां हर तरह की बाइक की एजेंसी पहले से मौजूद न हो। इसके साथ ही आप अपनी एजेंसी में सभी कंपनियों की बाइक्स के स्पेयर पार्ट्स भी बेच सकते हैं। यदि आपकी बाइक एजेंसी ऐसे स्थान पर है, तो उच्च संभावनाएं हैं कि यह आपको लाभ प्रदान करेगी।

बाइक एजेंसी खोलने की लागत

  • बाइक एजेंसी खोलने का खर्च आप पर निर्भर करता है, क्योंकि आप जो भी कंपनी की डीलरशिप लेंगे, वह आपके प्लान के हिसाब से आपको कीमत बताएगी। अलग-अलग बाइक एजेंसियों की डीलरशिप मुहैया कराने वाली कंपनियां अपने अलग-अलग प्लान के मुताबिक काम करती हैं। आप जिस भी कंपनी की डीलरशिप लेंगे आपको उस कंपनी के प्लान के मुताबिक काम करना होगा या निवेश करना होगा।
  • किसी भी जगह पर जहां आप बाइक एजेंसी की डीलरशिप लेने के लिए तैयार हैं, वहां आपको पहले इंटीरियर डेकोरेशन का काम करना होगा और इस काम में आपको कम से कम 10 से 15 लाख रुपए तक का निवेश करना पड़ सकता है।
  • कई बाइक एजेंसी कंपनियां हैं जो अपने डीलर्स को अपने क्रेडिट के हिसाब से बाइक बेचने के लिए देती हैं। लेकिन कई कंपनियां ऐसी भी हैं जो बिक्री के लिए डीलर को बाइक मुहैया कराने से पहले प्रति बाइक चार्ज करती हैं। अगर आप हर महीने कम से कम 100 बाइक बेचते हैं तो ऐसे में आपको प्रति बाइक 50 हजार रुपए तक का निवेश करना होगा। इस लिहाज से आपको प्रति बाइक कम से कम 50 लाख रुपये का निवेश करना होगा।
  • इसके अलावा अगर आप भी अपनी एजेंसी में बाइक कंपनियों के स्पेयर पार्ट्स बेचना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अलग से कम से कम 10 से 15 लाख रुपये का निवेश करना पड़ सकता है।
  • लगभग ऐसी कई बाइक एजेंसियां ​​हैं, जो डीलरशिप देने से पहले अपने डीलर से गारंटीशुदा बैंक से गारंटी मांगने का अनुरोध करती हैं।
See also  तेल की मिल का व्यापार 2023 कैसे शुरू करें | How To Start Oil Mill Business In Hindi
कंपनी का नाम डीलरशिप की लागत
Hero MotoCorp Ltd 50 लाख रुपए
Honda motorcycle and scooter India (Pvt) Ltd 2 से 4 करोड़
TVS Motor Company Ltd 50 लाख रुपए
Bajaj Auto Ltd 60 लाख रुपए
Royal Enfield 50 लाख से 1 करोड़ रुपए
Yamaha Motors Pvt Ltd 50 लाख से 80 लाख रूपए
Suzuki Motorcycle India Pvt Ltd 30 लाख से 50 लाख रुपए

बाइक एजेंसी लेने की ट्रेनिंग

वैसे तो सभी बाइक एजेंसी कंपनियों की अपनी डीलरशिप देने की योजना होती है, लेकिन ज्यादातर कंपनियां डीलरशिप देने के लिए अपने डीलरों को कुछ सहायता भी देती हैं। जो इस प्रकार है।

  • सभी डीलरशिप मुहैया कराने वाली कंपनियां वर्कशॉप और एजेंसी को सजाने के लिए अपने डीलर्स को लेआउट, ड्राइंग और डिजाइन देती हैं। आंतरिक सज्जा वे इसे तैयार करते हैं और प्रदान करते हैं और आपको अपनी एजेंसी या कार्यशाला को उसी के अनुसार डिजाइन करवाना होता है।
  • टू व्हीलर डीलरशिप प्रदान करने वाली सभी कंपनियां आपके वर्कर को जरूरी ट्रेनिंग फ्री में देती हैं जैसे- ग्राहकों से कैसे बात करनी है, ग्राहकों से कैसे डील करनी है और उन्हें अपने टू व्हीलर और उसके फीचर्स के बारे में कैसे बताना है आदि की जानकारी बताती है। क्योंकि टू व्हीलर डीलरशिप के काम में सभी लोगों का प्रोफेशनल होना जरूरी है, अगर आप प्रोफेशनल हैं तो इसका असर आपकी डीलरशिप मुहैया कराने वाली कंपनी पर भी पड़ेगा।
  • आपकी सेल्स टीम को मैनेज करने और ट्रेनिंग देने का काम भी सभी डीलरशिप प्रोवाइड करने वाली कंपनियां ही करती हैं।

बाइक एजेंसी कैसे खोलें

अगर आप कोई बड़ा निवेश कर सकते हैं तो बाइक डीलरशिप की एजेंसी खोल सकते हैं। तो आइए जानते हैं, कैसे आगे बाइक एजेंसी ले सकते हैं।

  • बाइक एजेंसी खोलने से पहले आपको अपने स्थानीय बाजार में रिसर्च करनी होगी, यह पता करना होगा कि आपके स्थानीय क्षेत्र में लोग किस कंपनी की बाइक और किस तरह की बाइक खरीदना पसंद करते हैं।
  • बाइक एजेंसी लेने के लिए आपको बाइक डीलरशिप देने वाली कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद, आपको इस कंपनी की डीलरशिप प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन एक आवेदन पत्र भरना होगा और जमा करना होगा।
  • जब कंपनी आपका आवेदन स्वीकार कर लेगी तो वह आपको कॉल या ईमेल के जरिए आगे की प्रक्रिया बताएगी।
See also  मिट्टी के बर्तन बनाने का बिज़नेस शुरू करें (Mitti ke Bartan ka Business in Hindi)

बाइक एजेंसी खोलने के लिए लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

बाइक एजेंसी खोलने के लिए आपको किसी भी तरह के रजिस्ट्रेशन या लाइसेंस के लिए खुद को अप्लाई नहीं करना होगा। आपको जिस भी कंपनी की डीलरशिप मिल जाती है, वह कंपनी आपको खुद ही सब कुछ दे देती है। आपको बस उनकी डीलरशिप लेकर बाइक बेचने का काम करना है। फिर भी आप चाहें तो अपने नजदीकी लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग से अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

बाइक एजेंसी खोलने के फायदे

बाइक एजेंसी खोलने से आपको कई तरह के फायदे हो सकते हैं, क्योंकि आप देख सकते हैं कि ज्यादातर लोग बाइक के दीवाने हो रहे हैं और इस नजरिए से बाइक के पुर्जे बेचने और बेचने के क्षेत्र में काफी विकास हुआ है। . अगर आप रोजाना 2 से 4 बाइक बेचते हैं तो आप एक दिन में आसानी से 3 से 4 हजार रुपए कमा सकते हैं। मासिक आय एक लाख रुपये से अधिक हो सकती है, यह पैमाना आपकी बाइक की बिक्री के आधार पर निर्भर करता है।

बाइक एजेंसी व्यवसाय में जोखिम

बाइक एजेंसी के कारोबार में आपके जोखिम में होने की संभावना बहुत कम है। बिजनेस में सबसे पहले आपको अपने ग्राहकों के प्रति विनम्र स्वभाव और सम्मान का भाव रखना चाहिए। आप अपने ग्राहकों के साथ जितना बेहतर व्यवहार करेंगे, आपके जोखिम में पड़ने की संभावना उतनी ही कम होगी।

ऐसे में अगर आप कोई बड़ा बिजनेस करने की सोच रहे हैं तो बाइक एजेंसी का बिजनेस कर सकते हैं। इससे आपको काफी मुनाफ़ा हो सकता है।

सामान्य प्रश्न

प्रश्न: बाइक की एजेंसी लेने के लिए क्या करें?

उत्तर: बाइक कंपनियों की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करें।

क्यू क्या हमें बाइक एजेंसी लेने के लिए निवेश करना होगा?

उत्तर: हां, बेशक आपको लाखों रुपये का निवेश करना होगा।

प्रश्न: हमें बाइक एजेंसी लेने का लाइसेंस कैसे मिलता है?

उत्तर: आपको इसे बनवाने की जरूरत नहीं है, यह कंपनी आपके लिए इसे बनवाएगी।

प्रश्न: मैं बाइक एजेंसी कहां खोल सकता हूं?

उत्तर: आप कहीं भी बाइक एजेंसी खोल सकते हैं।

क्यू : बाइक एजेंसी से हम कितना कमा सकते हैं?

उत्तर: बाइक एजेंसी से आप हर महीने 1 से 2 लाख रुपए कमा सकते हैं।